xmlns:og='http://ogp.me/ns#' Surya Grahan ( Solar Eclipse) 2020 Date and Time in India

Surya Grahan ( Solar Eclipse) 2020 Date and Time in India

Surya Grahan ( Solar Eclipse) 2020 Date and Time in India:  जानिए 21  जून 2020 को पड़ने वाले सूर्य ग्रहण  को क्यों कहा जा रहा है चूड़ामणि सूर्य ग्रहण, और इससे सम्भदित सारी जानकारी जानिये हिंदी में।

Surya Grahan ( Solar Eclipse) 2020 Date and Time in India (कैसे देखें पहला ग्रहण)

Surya Grahan ( Solar Eclipse) 2020 Date and Time in India: 21 जून को पड़ने वाला ग्रहण साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण है, यह ग्रहण बहुत ही ख़ास, कई ज्योतिषाचार्यों और वैज्ञानिकों का मानना है की यह 21 जून  रविवार को  वलयाकार यानि ( फायर ऑफ़ रिंग ) की तरह दिखेगा। जैसा  ऊपर बताया की इस ग्रहण को कुछ वैज्ञानिकों चूड़ामणि ग्रहण भी कहरे हैं। इस ग्रहण के पश्चात् चन्द्रमा सूर्य को 99 % से धक् देगा।

जून 2020 का वार्षिक ग्रहण केंद्रीय मार्ग से मध्य अफ्रीकी, कांगो और इथियोपिया सहित अफ्रीकी महाद्वीप के कुछ हिस्सों से होकर गुजरेगा; दक्षिण में पाकिस्तान और उत्तर में  भारत, और चीन। एक आंशिक ग्रहण उत्तरी और पूर्वी अफ्रीका में, यूरोप के दक्षिण-पूर्व में, अधिकांश एशिया (रूस के उत्तर भाग को छोड़कर) और ऑस्ट्रेलिया के उत्तर में सूर्यास्त से पहले दिखाई देगा। यूरोप में आंशिक रूप से पेरुगिया, मिस्कॉल, यारोस्लाव से होकर गुजरने वाली रेखा के दक्षिण-पूर्व स्थानों के लिए आंशिक ग्रहण दिखाई देगा

Surya Grahan (सूर्य ग्रहण )2020 Date and Time in India:  यह ग्रहण करीब 6 जानते का होगा भारत की राजधानी दिल्ली में सूर्य ग्रहण 09:15AM के करीब आरंभ होगा और दोपहर में 12:05PM पर  कुछ समय के लिए हल्का अंधेरा छा जाएगा और 01:49PM बजे यह ग्रहण समाप्त होगा

सूर्य ग्रहण 2020 का सूतक काल 20 जून को लगेगा: सूर्य ग्रहण का सूतक काल 20 जून रात्रि 09:25 बजे बजे शुरू होगा, सूर्य ग्रहण लगने से 12 घंटे पहले सूतक आरंभ हो जाता हैयह 22 जून को सुबह 9 बजे तक रहेगा यह मानयता है कि सूतक के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इस दौरान मंदिर और धार्मिक स्थल सूतक काल में  बंद रहेंगे

सूर्य ग्रहण के समय पाठ-पूजा करें या नहीं?

जैसा की इस सूर्य ग्रहण का प्रभाव भारत पर भी है, तो सूतक के समय पाठ-पूजा नहीं करनी चाहिए। ग्रहण के पश्चात् आप हनुमान चालीसा या ॐ नमो शिवाये का जाप क्र सकते हैं।आप चाहे तो अपने कुल देवता का भी ध्यान क्र सकते हैं

सूर्य ग्रहण ख़त्म होने के बाद सभी सनान कर सकते हैं, अपने घर की सफाई भी कर सकते हैं, और दान भी दे सकते हैं



Post a Comment

0 Comments

_M=1CODE.txt Displaying _M=1CODE.txt.