xmlns:og='http://ogp.me/ns#' Naag Panchami 2020- कालसर्प दोष दूर करने का अवसर

Naag Panchami 2020- कालसर्प दोष दूर करने का अवसर

पौराणिक काल से ही नामों को देवता के रूप में पूजा जाता रहा है। नाग पंचमी के दिन नाग पूजन का विशेष महत्व माना गया है। ऐसी मान्यता है कि  इसे धन-धान्य की प्राप्ति होती है और सर्पदंश का डर दूर होता है। श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाए जाने वाले नाग पंचमी इस बार 25 जुलाई को है। यह दिन कालसर्प दोष निवारण का अवसर माना जाता है।

Naag Panchami 2020-  कालसर्प दोष दूर करने का अवसर


ज्योतिष के अनुसार जब किसी की कुंडली में राहु और केतु ग्रहों के बीच अन्य सभी ग्रह आ जाते हैं तो कालसर्प दोष माना जाता है तो वह काल सर्प दोष बन जाता है। कुंडली के एक घर में राहु और दूसरे घर में केतु के होने से अन्य सभी ग्रहों के फल रुक जाते हैं। इस दोष के कारण काम में बाधा, नौकरी में रुकावट, शादी में देरी और धन संबंधी परेशानियां आने लगती है। कालसर्प योग का प्रभाव कम करने के कई उपाय बताए गए हैं।

1. ॐ  नमः शिवाय का जप करने या रोजाना कम से कम 108 बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से इस योग के खराब प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है। 

2. नाग देवता की पूजा करना या नाग पंचमी को व्रत करना प्रभावी रहता है। 

3. धातु से बने नाग और नागिन का जोड़ा नदी या शिव मंदिर में चढ़ाना भी अच्छा परिणाम दिखाता है। 

4. ऐसे शिव मंदिर में जहां शिवलिंग पर नाग नहीं हो, वहां प्रतिष्ठा करवाकर नाग चढ़ाएं। 

5. शिवजी को चंदन और चंदन का इत्र चढ़ाएं। खुद भी रोज लगाएं। 

6. नाग पंचमी को शिव मंदिर की सफाई मरम्मत व पुताई करवाए। 




Post a Comment

0 Comments

_M=1CODE.txt Displaying _M=1CODE.txt.