xmlns:og='http://ogp.me/ns#' COVID-19 की वैक्सीन आ गई (रूस कोरोनावायरस वैक्सीन ट्रायल में सफल)

COVID-19 की वैक्सीन आ गई (रूस कोरोनावायरस वैक्सीन ट्रायल में सफल)

COVID-19 की वैक्सीन आ गई (रूस कोरोनावायरस वैक्सीन ट्रायल में सफल)

रूस कोरोनावायरस वैक्सीन बनाने वाला दुनिया का पहला देश बनने जा रहा है। रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुरशको ने दावा किया कि रूस की वैक्सीन ट्रायल में सफल रही है और अब अक्टूबर महीने से देश में टीकाकरण शुरू होगा। वैक्सीन लगाने का पूरा खर्च सरकार उठाएगी। उधर, उप स्वास्थ्य मंत्री ओलेग ग्रिदनेव ने दावा किया है कि रूस 12 अगस्त को दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन रजिस्टर कराएगा।

 यह भी पढ़ें: Russia Launching Coronavirus Vaccine Next Month

उन्होंने कहा, 'इस समय वैक्सीन का तीसरा चरण चल रहा है। हमें यह समझना होगा कि वैक्सीन सुरक्षित रहें। मेडिकल प्रोफेशनल और वरिष्ठ नागरिकों को सबसे पहले यह टीका लगाया जाएगा।' वहीं रूस के इस दावे पर दुनिया भर के वैज्ञानिक चिंतित है कि कहीं अव्वल आने के यह दौर उल्टी ना साबित हो जाए। जॉर्ज टाउन विश्वविद्यालय में वैश्विक जन स्वास्थ्य कानून विशेषज्ञ, लॉरेंस गोस्टिन ने कहा, 'मुझे चिंता है कि रूस बहुत जल्दबाजी कर रहा है। इससे टीका ना सिर्फ अप्रभावी होगा बल्कि और असुरक्षित भी होगा। 

यह भी पढ़ें: Positive results of protein-based treatment of corona.

इससे पहले रूस ने दावा किया था कि उसकी कोरोनावायरस वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल में 100% सफल रही है। इस वैक्सीन को रूस रक्षा मंत्रालय और गमलेया नेशनल सेंटर फॉर रिसर्च ने तैयार किया है। रूस ने कहा कि ट्रायल में जिन लोगों को यह वैक्सीन लगाई गई उन सभी में सीओवी 2 के प्रति रोग प्रतिरोधक क्षमता पाई गई।

यह भी पढ़ें: Covid-19- Crossed 50,000 new cases in a day in India

Post a Comment

0 Comments

_M=1CODE.txt Displaying _M=1CODE.txt.